WE WILL BE DELIVERED WITHIN 7 WORKING DAYS
+91-8285798053

Haashiye ar adi Duniya

ISBN - 9788126724598
Author - Balkrishna Guta

Special Price INR 420

Regular Price: INR 600

Quick Overview

     

  
Product Description
हाशिए पर पड़ी दुनिया' बहुआयामी व्यक्तित्व-कृतित्व के धनी बालकृष्ण गुप्त पर केन्द्रित अनूठी पुस्तक है। डॉ. राममनोहर लोहिया और बालकृष्ण गुप्त की राजनीतिक सहभागिता एक इतिहास निर्मित कर चुकी है। अध्ययन, अनुभव, सक्रियता व प्रतिबद्धता का ऐसा उदाहरण दुर्लभ है। प्रस्तुत पुस्तक की भूमिका में पूर्व लोकसभा अध्यक्ष रवि राय लिखते हैं : 'आप यदि लोहिया पर लिखेंगे तो बालकृष्ण जी छाया बन जाएंगे ओर बालकृष्ण जी पर लिखेंगे तो लोहिया की देह बनना तय है। वैसे लोहिया मेरे राजनीतिक गुरु रहे हैं जबकि बालकृष्ण जी मेरे गुरु के गुरुत्व होने की शक्ति, यानी कि वह वजह, जिससे लोहिया थे, और जिससे लोहिया थे उस शक्ति पर लिखना निश्चित ही आसान काम नहीं है।' स्वाभाविक है कि बालकृष्ण गुप्त पर लिखे गए संस्मरणों एवं स्वयं उनके महत्त्वपूर्ण आलेखों से समृद्ध यह पुस्तक अपने समय का ज्वलन्त साक्ष्य है। सम्पादक द्वय सारंग उपाध्याय व अनुराग चतुर्वेदी ने पुस्तक का संयोजन पांच खंडों में किया है। खंड-1 में आत्मीयजनों के संस्मरण बालकृष्ण गुप्त के कर्मठ जीवन का व्यवस्थित विवेचन करते हैं। खंड-2 (हाशिए पर पड़ी दुनिया), खंड-3 (बुद्धिजीवी नेहरू, लोहिया और वामपंथ) तथा खंड-4 (बिड़ला, गोयनका और अंधी योजनाएं) में बालकृष्ण गुप्त के विपुल लेखन से चुने गए कुछ महत्त्वपूर्ण आलेख हैं। समाज, राजनीति, अर्थनीति, लोकतंत्र, विदेशनीति, प्रशासन और विश्व परिदृश्य आदि विविध विषयों से संबद्ध ये लेख गुप्त की लेखन क्षमता का अकाट्य प्रमाण हैं। इन आलेखों की प्रासंगिकता स्वयंसिद्ध है। समकालीन राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय संदर्भों को समझने में इन विचारों से बहुत प्रकाश मिलता है। यह भी पता चलता है कि राजनीति में सक्रिय रहने के लिए कितने अध्ययन व विवेक की आवश्यकता होती है। 'लोहियावाद' को मूर्तिमान करने वाले बालकृष्ण गुप्त का लेखन प्रेरणा प्रदान करता है। खंड-5 (दस्तावेज) में कुछ ऐतिहासिक महत्त्व के प्रसंग संजोए गए हैं। पुस्तक में अनेक चित्र हैं जो स्वयं में एक दस्तावेज हैं। समग्रत: यह सुसंपादित व विचार-समृद्ध पुस्तक प्रत्येक जागरूक पाठक के लिए अनिवार्य है।
Additional information
Title Haashiye ar adi Duniya Length
Author Balkrishna Guta Breadth
ISBN 9788126724598 Binding PAPER BACK
Weight Height
Language HINDI Year
Publisher Rajkamal rakashan Pages
Edition Availability In Stock